जीवन शैली

हार्ट अटैक और उससे बचने के उपाय

हार्ट अटैक एक मेडिकल इमरजेंसी है जिस पर तुरंत ध्यान देने की जरूरत है, क्यूंकि यह किसी व्यक्ति को बेहोश कर सकता है और यहां तक की मौत भी हो सकती हैं।

  • दिल के दौरे के लक्षण और उपचार:
    हृदय के अच्छे स्वास्थ्य के लिए हृदय को ऑक्सीजन युक्त और पोषक तत्वों से भरपूर रक्त की निरंतर आवश्यकता होती है। दिल का दौरा एक ऐसी स्तिथि है जब अचानक धमनी में रूकावट होती है और हृदय की मांसपेशियों में रक्त का प्रवाह प्रतिबंधित होता है। रूकावट मुख्य रूप से कोरोनरी धमनियों में पट्टिका के निर्माण के कारण है। दिल का दौरा तब होता है जब रक्त का थक्का होता है जो रक्त प्रवाह को पूरी तरह से प्रतिबंधित करता है और यह घातक हो सकता है।
  • हार्ट अटैक के लक्षण:
    1. सीने में तकलीफ या दर्द
    2. सीने में जकड़न या छींक आना
    3. हाथ, गर्दन, जबड़े या पीठ में दर्द
    4. ठंडा पसीना
    5. जी मिचलाना
    6. हार्ट बर्न या पेट दर्द
    7. साँसों की कमी
    8. थकान
    9. चक्कर आना या प्रकाशहीनता

लक्षण और उनकी गंभीरता, एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में भिन्न हो सकती है। दिल का दौरा भी अचानक आ सकता है। दिल का दौरा पड़ने से कार्डियक अरेस्ट हो सकता है। इस स्थति के कुछ लक्षणों में बेहोशी या श्वास की अनुपस्तिथि शामिल है।

  •  दिल के दौरे के कुछ प्रमुख जोखिम कारक है:
    1. दिल का दौरा युवाओ को उनकी खराब जीवन शैली के कारण प्रभावित कर रहा है, लेकिन यह विशेष रूप से 65 वर्ष से अधिक      आयु के लोगो में अधिक होता है।
    2. यदि किसी व्यक्ति के दिल की बीमारियों का परिवारिक इतिहास है, तो भी जोखीम अधिक है।
    3. उच्च रक्तचाप और मधुमेह स्वास्थ्य की सिथ्ति भी व्यक्ति में दिल के दौरे की संभावना बढ़ा देती है।
    4. ध्रूमपान, शराब का सेवन, खराब आहार की आदत से उच्च कोलेस्ट्रॉल का स्तर, तनाव भी दिल दौरे के जोखिम बढ़ाते है।
  •  हार्ट अटैक के दौरान क्या करना चाहिए
    दिल का दौरा पड़ने पर कोई भी समय बर्बाद किये बिना एम्बुलेंस को कॉल करके डॉक्टर की मदद लेनी चाहिए। जब तक मदद न आ जाये तब तक शांत रहना चाहिए और धीमी गहरी सॉस लेनी चाहिए। जीवनशैली मे सुधार लाकर, और मधुमेह और उच्च रक्तचाप जैसी बिमारिओ को समय पर दवा लेकर दिल के दौरे के हानिकारक प्रभावों से बचा जा सकता है।
  •  जीवन शैली में बदलाव के कुछ तरीके:
    1. सक्रीय रहना और व्यायाम करना
    2. तनाव और चिंता से दूर रहे
    3. स्वस्थ शरीर का वज़न बनाये रखना
    4. पौष्टिक खाद्य पदार्थ खाना
    5. धूम्रपान या शराब का सेवन न करना

Advertisement

Related posts

क्या आप को भी है अल्सर की दिक्कत ? अगर है तो पढ़िए और जाने कैसे आप कर सकते है उसका इलाज…

viraltime_team

जानिए कब और क्यों मनाया जाता है मदर्स डे…

viraltime_team

जीकेसी का एकदिवसीय योग वर्कशॉप संपन्न, योग गुरू ने लोगों को दिये योगा टिप्स

Viral Time

Leave a Comment

टॉप न्यूज़
ब्रेकिंग न्यूज़