व्यापार

SBI के चेयरमैन बोले: इकोनॉमिक ग्रोथ को सपोर्ट करने के लिए जितना संभव होगा, ब्याज दरों को कम रखेंगे



Hindi NewsBusinessWill Try To Keep Interest Rate Benign For As Long As Possible: SBI Chief

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

नई दिल्ली2 घंटे पहले

Advertisement

कॉपी लिंकस्टेट बैंक ऑफ इंडिया के चेयरमैन दिनेश खारा। (फाइल फोटो) - Dainik Bhaskar

स्टेट बैंक ऑफ इंडिया के चेयरमैन दिनेश खारा। (फाइल फोटो)

लॉकडाउन के NPA पर असर को लेकर इंतजार करना होगाकोविड से लड़ाई में पूरी मदद कर रहा है बैंक: दिनेश खारा

स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (SBI) के चेयरमैन दिनेश खारा ने रविवार को कहा कि इकोनॉमिक ग्रोथ को सपोर्ट करने के लिए जितना संभव हो सकेगा, ब्याज दरों को कम रखेंगे। कोरोना की दूसरी लहर के बैंक के नॉन परफॉर्मिंग असेट्स (NPA) पर असर को लेकर खारा ने कहा कि इस बार देशव्यापी लॉकडाउन नहीं लगाया गया है। ऐसे में हमें इसके बैंकिंग सेक्टर पर असर को लेकर इंतजार करो और देखो की नीति अपनानी होगी।

NPA को लेकर बोलना जल्दबाजी होगी

समाचार एजेंसी PTI को दिए एक इंटरव्यू में दिनेश खारा ने कहा कि ब्याज दरों पर महंगाई समेत कई चीजों का असर पड़ता है। ग्रोथ के लिए शुरू किए गए प्रयासों को हमारा सपोर्ट है। ग्रोथ को सुनिश्चित करने के लिए, हम जब तक संभव होगा ब्याज दरों को नरम स्तर पर बनाए रखेंगे। खारा ने कहा कि स्थानीय प्रतिबंधों के कारण NPA को लेकर कुछ भी बोलना जल्दबाजी होगी।

लॉकडाउन का राज्यवार अलग-अलग असर

दिनेश खारा ने कहा कि राज्यों में लॉकडाउन का असर अलग-अलग है। इसका कारण यह है कि इस बार समान प्रतिबंध नहीं लगाए गए हैं। ऐसे में हमें इकोनॉमी और NPA की स्थिति पर कोई भी टिप्पणी करने से पहले और इंतजार करना होगा। कोविड से लड़ाई में बैंक के प्रयासों की जानकारी देते हुए खारा ने कहा कि SBI ने सबसे प्रभावित राज्यों में ICU की सुविधा वाले अस्पताल बनाने का फैसला किया है।

कोविड से लड़ाई में अब तक 30 करोड़ रुपए खर्च किए

खारा ने कहा कि कोविड से लड़ाई में SBI अब तक 30 करोड़ रुपए खर्च कर चुका है। बैंक NGO और अस्पताल मैनेजमेंट के संपर्क में है और आपातकाल के आधार पर कोविड-19 मरीजों के उपचार के लिए मेडिकल सुविधाएं स्थापित करने में जुटा है। खारा ने कहा कि बैंक का इरादा सबसे प्रभावित राज्यों में 1 हजार बेड स्थापित करने का है। इसमें 50 बेड ICU सुविधा वाले होंगे।

70 हजार कर्मचारियों को वैक्सीन लगाई गई

दिनेश खारा ने कहा कि कर्मचारियों और उनके परिवारों की सुरक्षा के लिए बैंक ने पूरे देश में विभिन्न अस्पतालों के साथ टाई-अप किया है। इन अस्पतालों में बैंक कर्मचारियों और उनके परिवारों को बीमार होने पर उपचार में प्राथमिकता मिलेगा। उन्होंने कहा कि 2.5 लाख में से अब तक 70 हजार बैंक कर्मचारियों को वैक्सीन लगाई जा चुकी है। बैंक ने कर्मचारियों और उनके परिवारों को लगाई जाने वाली वैक्सीन का पूरा खर्च उठाने का फैसला किया है।

रबि शंकर होंगे आरबीआई के अगले डिप्टी गवर्नर

केंद्र सरकार ने आरबीआई के एक्जीक्यूटिव डायरेक्टर टी रबि शंकर को चौथा डिप्टी गवर्नर नियुक्त किया है। शंकर दो अप्रैल को रिटायर हुए बीपी कानूनगो की जगह लेंगे। कैबिनेट की अपॉइंटमेंट कमेटी ने शनिवार को शंकर की नियुक्ति को हरी झंडी दी। दिनेश शंकर के अलावा आरबीआई में तीन अन्य डिप्टी गवर्नर माइकेल देबव्रत पात्रा, मुकेश कुमार जैन और राजेश्वर राव शंकर हैं। रबि शंकर 1990 में आरबीआई से जुड़े थे। शंकर ने बनारस हिन्दू विश्वविद्यालय से साइंस एंड स्टेटिटिक्स में मास्टर्स की डिग्री हासिल की है।

खबरें और भी हैं…



Source link

Related posts

कोरोनाकाल में सस्ते में शॉपिंग करने का मौका दे रही है ई-कॉमर्स बेवसाइट्स, यहां देखिए सेल की पूरी लिस्ट

Viral Time

टेस्ला बनीं दुनिया की सबसे ज्यादा वैल्यूएबल ऑटो कंपनी, बुधवार को कंपनी के शेयर्स में हुई 4 फीसदी से ज्यादा की बढ़ोतरी

Viral Time

सोनेट, मैग्नाइट से लेकर ईकोस्पोर्ट तक बाजार में उपलब्ध हैं ये 8 सब-कॉम्पैक्ट एसयूवी, जानिए किसे खरीदना फायदे का सौदा

Viral Time

Leave a Comment

टॉप न्यूज़
ब्रेकिंग न्यूज़