कोरोना जीवन शैली

कोरोना के नए स्ट्रेन से है बच्चो को सबसे ज़्यादा खतरा, जानिए क्या है बचाव…

जब पिछले साल कोरोना महामारी हुई थी, तो यह कहा गया था कि यह बच्चों के लिए बहुत खतरनाक नहीं था और बच्चे उस समय संक्रमित भी नहीं थे। लेकिन वायरस के नए संस्करण B.1.1.7 और B.1.617 कोरोना की दूसरी लहर में बच्चों के लिए बहुत खतरनाक हैं और बड़ी संख्या में बच्चे भी दूसरी लहर में कोरोना से संक्रमित हो रहे हैं। ऐसे में अभिभावकों की चिंता बढ़ती जा रही है।

नवी मुंबई के फोर्टिस अस्पताल के बाल रोग विशेषज्ञ डॉ.सुभाष राव का कहना है कि कोरोना की दूसरी लहर में उलटा रुख देखा गया है। पिछले साल जहां ज्यादातर बच्चे स्पर्शोन्मुख थे उनमें कोई लक्षण नहीं दिखा। जबकि इस साल दूसरी लहर बच्चों में लक्षण दिखा रही है और संक्रमण बच्चों से वयस्कों तक फैल रहा है।

Advertisement

बुखार

सर्दी

खांसी

दस्त

उल्टी

भूख का लगना

थकान महसूस कर रहा हूँ

सांस लेने में कठिनाई

डॉ.राव ने कहा कि अगर बच्चा कोविड -19 संक्रमण के लक्षण दिखाता है तो आरटीपीआर परीक्षण अगले दिन किया जाना चाहिए। वे कहते हैं कि बच्चे सुपरस्प्रेडर बन सकते हैं और वे संक्रमण को अन्य बच्चों और वयस्कों में जल्दी से फैला सकते है।

Related posts

अखिलेश के बाद योगी को हुआ कोरोना , ट्विटर पे दी खबर…

viraltime_team

महामारी के बीच भारत में मिल रहे नये ट्रिपल म्यूटेंट कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण ने बढ़ाई मुश्किलें।

Viral Time

अपनी गाड़ी बेचकर मरीज़ो के लिए 22 ऑक्सीजन सिलिंडर ख़रीदे, लोगो ने ‘ऑक्सीजन मैन’ नाम दिया…

viraltime_team

Leave a Comment

टॉप न्यूज़
ब्रेकिंग न्यूज़