Viral Time
Breaking News
Business

अदानी ने टाटा को पछाड़ा; मार्केट कैप के हिसाब से देश की सबसे मूल्यवान कंपनी

गौतम अदानी के अदानी समूह की कंपनियों ने देश के सबसे मूल्यवान व्यापारिक दिग्गज टाटा समूह को पीछे छोड़ दिया है। जैसे ही अदानी समूह की कंपनियों ने दलाल स्ट्रीट पर रैली की अदानी ने टाटा को पीछे धकेल दिया। शुक्रवार को बाजार बंद होने पर अदानी समूह की कंपनियों के सभी सूचीबद्ध शेयरों का मूल्य बढ़कर 22.27 लाख करोड़ रुपये हो गया। टाटा समूह की कंपनियों का मूल्य 20.77 लाख करोड़ रुपये है। अदानी समूह की कंपनियों और टाटा के बाद रिलायंस समूह तीसरे स्थान पर रहा। इस समूह की कंपनियों का बाजार मूल्य शुक्रवार को समापन समय 17.16 लाख करोड़ रुपये था। जैसे-जैसे अडानी का कारोबार बड़े पैमाने पर बढ़ रहा है, उनकी कंपनियां बाजार में रैली कर रही हैं। इसी के साथ अदानी उस मुकाम तक पहुंच रही है, जहां कोई और नहीं पहुंच सकता।

शुक्रवार को अदानी समूह की कंपनियों की रैली के साथ गौतम अदानी दुनिया के दूसरे सबसे बड़े कुबेर बन गए। अमेज़ॅन के संस्थापक जेफ बेजोस को गौतम अदानी ने पद अर्जित करने के लिए पीछे धकेल दिया। फोर्ब्स रियल टाइम अरबपतियों की सूची के अनुसार, गौतम अडानी की संपत्ति शुक्रवार को बढ़कर 155.7 अरब डॉलर हो गई। भारतीय मुद्रा गणना के अनुसार यह संपत्ति 12.42 लाख करोड़ रुपये है। दुनिया के सबसे मूल्यवान खिलाड़ी के रूप में शीर्ष स्थान का दावा करने के लिए अदानी के पास अभी भी एक और सवाल बाकी है। अब उनका मुकाबला शीर्ष स्थान के लिए एलोन मस्क से होगा। फोर्ब्स की ओर से जारी आंकड़ों के मुताबिक अदाणी की संपत्ति में कल एक दिन में 5.5 अरब डॉलर का इजाफा हुआ।

अदानी समूह के शेयर इस साल की शुरुआत से ही अच्छा रिटर्न दे रहे हैं। हालांकि, चार कंपनियों ने सामूहिक रूप से दोगुना रिटर्न दिया। अदानी पावर में 288.9 फीसदी और अदानी ट्रांसमिशन में 135.2 फीसदी की तेजी रही। अदाणी इंटरप्राइजेज में 116.6 फीसदी और अदाणी ग्रीन में 74.1 फीसदी की तेजी रही। अदानी समूह की कंपनियों की सात कंपनियां शेयर बाजार में सूचीबद्ध हैं। हाल ही में अदानी ने एसीसी और अंबुजा सीमेंट्स को भी खरीदा है। यह डील भी कल ही बंद हो गई थी। अब से ये भी अडानी के खातों में मोटी रकम जमा करा देंगे।

टाटा समूह की 27 कंपनियां बाजार में सूचीबद्ध हैं जिन्हें अदाणी समूह की कंपनियों ने पछाड़ दिया है। बाजार पूंजीकरण के मामले में, टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज (TCS) 53 प्रतिशत की हिस्सेदारी के साथ सर्वोच्च स्थान रखती है। टीसीएस का बाजार पूंजीकरण फिलहाल 11 लाख करोड़ रुपये है। हालांकि हाल के दिनों में टीसीएस कंपनी के शेयरों में करीब 20 फीसदी की गिरावट आई है। टाटा समूह 154 वर्षों से विभिन्न व्यवसायों में है। नमक से लेकर सॉफ्टवेयर तक के कारोबार चला रहे हैं। हाल ही में टाटा समूह भी नए उद्योगों पर ध्यान केंद्रित कर रहा है। यह अगले पांच वर्षों में भारत में 90 अरब डॉलर का निवेश करने की योजना बना रहा है।

दूसरी ओर, अदानी समूह ने अंबुजा सीमेंट्स और एसीसी, स्विट्जरलैंड स्थित होल्सिम की भारतीय संपत्ति की खरीद प्रक्रिया पूरी कर ली है। जबकि गौतम अडानी खुद अंबुजा सीमेंट्स का कारोबार देख रहे हैं.. गौतम अडानी ने अपने बड़े बेटे करण को एसीसी का चेयरमैन नियुक्त किया है. करण पहले से ही अदानी पोर्ट्स, विशेष आर्थिक क्षेत्र के मुख्य कार्यकारी अधिकारी हैं। होल्सिम इंडिया की संपत्तियां खरीदने के बाद अदाणी समूह ने सीमेंट कारोबार में प्रवेश किया।

तेल से लेकर दूरसंचार तक के कारोबार में रिलायंस समूह फिलहाल बाजार पूंजीकरण के मामले में तीसरे स्थान पर है। रिलायंस समूह की कंपनियों का बाजार मूल्य शुक्रवार को 17.16 लाख करोड़ रुपये दर्ज किया गया। रिलायंस ग्रुप की वैल्यू तीन साल में 77 फीसदी बढ़ी है। अंबानी ने रिलायंस इंडस्ट्रीज के मूल्य को और बढ़ाने की योजना बनाई है। मुकेश अंबानी का लक्ष्य 2027 तक अपने मूल्य को दोगुना करना है।

Related posts

गौतम अडानी: गौतम अडानी दुनिया के सबसे अमीर लोगों की लिस्ट में एलन मस्क के बाद दूसरे नंबर पर

cradmin

विधानसभा में बीजेपी विधायक खाते दिखे गुटखा और खेलते दिखे ताश, अखिलेश बोले- सदन मनोरंजन का अड्डा बना

बेंगलुरु में ‘PayCM’ के पोस्टरों पर कर्नाटक कांग्रेस नेताओं को हिरासत में लिया गया

Leave a Comment