Viral Time
Breaking News
देशब्रेकिंग न्यूज़शहर और राज्य

राजस्थान में इंदिरा गांधी शहरी रोजगार गारंटी योजना शुभारंभ श्री अशोक गहलोत ने की

जयपुर के टनल चौराहा स्थित अंबेडकर भवन में इंदिरा गांधी शहरी रोजगार गारंटी योजना के शुभारंभ समारोह में संबोधित किया। गांवों की तर्ज पर शहरों में भी हर हाथ को रोजगार मुहैया कराने के लिए राज्य सरकार गंभीर है। पूरे देश में सबसे पहले राजस्थान के शहरवासियों को रोजगार देने के लिए ‘इंदिरा गांधी शहरी रोजगार गारंटी योजना‘ के रूप में ऐतिहासिक पहल की गई है। अब राज्य सरकार योजना अंतर्गत शहरों के हर जरूरतमंद परिवार को 100 दिन का रोजगार उपलब्ध कराएगी। योजना में जरूरतमंद परिवार जनाधार से जॉबकार्ड बनाकर रोजगार की मांग करते हुए रोजगार प्राप्त कर सकते हैं।
देशभर के ग्रामीण क्षेत्रों में रोजगार के लिए यूपीए सरकार के समय महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी अधिनियम (मनरेगा) शुरू की गई थी। मनरेगा के सकारात्मक परिणाम देखने को मिले और देशभर में ग्रामीण बेरोजगारों को रोजगार के अवसर आसानी से सुलभ होने लगे। इससे जीवन स्तर में भी सुधार आया। कोरोना के दौरान जब रोजगार का संकट बढ़ा तो यहीं योजना वरदान साबित हुई। इसी को ध्यान में रखते हुए शहरी क्षेत्रों में भी रोजगार गारंटी योजना शुरू करने का ऐतिहासिक फैसला बजट में लिया गया। समारोह में योजना संबंधित बुकलेट का विमोचन किया और पांच महिलाओं को जॉबकार्ड वितरित किए।

आगरा रोड स्थित 18वीं शताब्दी में निर्मित ऐतिहासिक खानिया की बावड़ी पहुंचे। यहां करनी चलाकर और स्मारिका पट्टिका का अनावरण कर योजना का शुभारंभ किया। मजदूरों से संवाद किया और उन्हें आवश्यक संसाधन (औजार) वितरित किए। मौके पर महात्मा गांधी अंग्रेजी माध्यम विद्यालय में अध्यनरत छात्राओं से संवाद कर उन्हें प्रोत्साहित किया। बावड़ी के बाहर स्थानीय बुजुर्गों से बातचीत कर पेंशन व मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना की संबंधित जानकारी ली।

महिलाओं/बालिकाओं की स्वच्छता के लिए उड़ान योजना अंतर्गत निःशुल्क सेनेटरी नैपकिन वितरित किए जा रहे हैं। महिलाएं/बालिकाएं से सेनेटरी नैपकिन के इस्तेमाल में संकोच नहीं करने और स्वच्छता का ध्यान रखने के लिए अपील की। राज्य सरकार प्रदेशवासियों के आर्थिक, सामाजिक, शैक्षिक विकास और निरोगी राजस्थान की संकल्पना को साकार करने के लिए निरंतर अहम फैसले ले रही हैं। प्रदेशवासियों से आह्वान है कि वे जनकल्याणकारी योजनाओं का लाभ उठाएं और व्यापक प्रचार-प्रसार करें ताकि अंतिम पंक्ति में बैठे व्यक्ति भी लाभान्वित हो सकें। बजट में हर वर्ग और हर क्षेत्र को ध्यान में रखकर घोषणाएं की गई है।

सरकार द्वारा कच्ची बस्तियों का नियमानुसार नियमन किया जाएगा। निर्धारित समयावधि से रह रहे निवासियों को पट्टे दिए जाएंगे। नगर निगम, नगरपालिका और नगरपरिषद के जनप्रतिनिधियों से कहा कि वे लक्ष्य निर्धारित कर अपने-अपने क्षेत्रों में पट्टों से वंचितों को पट्टे दिलाने में अहम भूमिका निभाएं। प्रदेशवासियों को किसी भी तरह से अपने मकानों का पट्टे मिलें, इसके लिए सरकार द्वारा नियमों में कई संशोधन किए गए है। प्रशासन शहरों एवं गांवों के संग अभियानों में पट्टे बनाने और वितरण करने में लापरवाही करने वाले तथा योजनाओं का क्रियान्वयन नहीं करने वाले राजकीय कार्मिकों के नामों की सूची भी बनाएं। ऐसे कार्मिकों पर सख्त कार्रवाई की जाएगी।

 

समारोह में स्वायत्त शासन मंत्री श्री शांति धारीवाल ने कहा कि हर हाथ को रोजगार उपलब्ध कराने के लिए राज्य सरकार संकल्पित है। रोजगार की गारंटी से बेरोजगारी के विरूद्ध यह अभियान चलाया गया है। राज्य की जनकल्याणकारी योजनाओं से आमजन को आर्थिक संबल मिल रहा है। आदर्श नगर विधायक श्री रफीक खान ने कहा कि शहरों में भी हर हाथ को रोजगार उपलब्ध कराना सबसे बड़ा कार्य है। यह योजना शहरों के लिए वरदान साबित होगी।

इस अवसर पर जयपुर नगर निगम हैरिटेज महापौर श्रीमती मुनेश गुर्जर ने कहा कि आज का दिन ऐतिहासिक है। मुख्यमंत्री के नेतृत्व में हर वर्ग का ख्याल रखा जा रहा है। स्वायत्त शासन विभाग के शासन सचिव डॉ. जोगाराम ने योजना के बारे में जानकारी दी। योजना से संबंधित जानकारी वेब पोर्टल www.irgyurban.rajasthan.gov.in से भी ली जा सकती है।

समारोह में जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी मंत्री डॉ. महेश जोशी, राजस्थान हज कमेटी के अध्यक्ष व किशनपोल विधायक श्री अमीन कागजी, राजस्थान वक्फ बोर्ड अध्यक्ष श्री खानू खान बुधवाली, समाज कल्याण बोर्ड की अध्यक्ष श्रीमती अर्चना शर्मा, नगर निगम हैरिटेज के उपमहापौर श्री मोहम्मद असलम फारूकी, नगरीय विकास एवं आवासन विभाग के प्रमुख शासन सचिव श्री कुंजीलाल मीणा, जयपुर नगर निगम ग्रेटर आयुक्त श्री महेंद्र सोनी, हैरिटेज आयुक्त श्री विश्राम मीणा सहित अन्य उच्चाधिकारी और आमजन उपस्थित थे। इस राज्य स्तरीय समारोह में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए सभी जिलों से जिला प्रभारी मंत्री, विधायक, जनप्रतिनिधिगण, अधिकारीगण और श्रमिक जुड़े।

 

योजना में अनुमत कार्य

इस योजना में पर्यावण सरंक्षण कार्य, जल संरक्षण संबंधी कार्य, स्वच्छता एवं सेनिटेशन संबंधित कार्य, सम्पति विरूपण रोकने से संबंधित कार्य, कन्वर्जेंस कार्य, सेवा संबंधित कार्य, हैरिटेज संरक्षण संबंधित कार्य सहित अन्य कई तरह के कार्य होंगे।

योजना में अभी तक

– 800 करोड़ रूपये का प्रावधान किया गया है योजना में

– 2.25 लाख से अधिक जॉबकार्ड बनाए गए अभी तक

– 3.51 लाख से अधिक सदस्य योजना से जुड़े

– 99 हजार परिवारों द्वारा रोजगार की मांग की गई

– 100 दिन एक वर्ष में प्रति परिवार को मिलेगा रोजगार

– 31 हजार से अधिक ऑनलाइन मस्टररोल जारी

– 259 रूपये प्रतिदिवस अकुशल श्रमिक की मजदूरी

– 271 रूपये मेट की प्रतिदिवस मजदूरी

– 283 रूपये कुशल श्रमिक की प्रतिदिवस मजदूरी

– 18 से 60 वर्ष की आयु वाले सदस्य कर सकते है कार्य

Related posts

बदायूं की जामा मस्जिद भी विवादों के घेरे में , मस्जिद को नीलकंठ महादेव मंदिर होने का दावा

cradmin

आरएसएस पदाधिकारी व कार्यकर्ताओं के खिलाफ हुआ मुकदमा एक्सपंज: दिल्ली तक गूंजा मामला तो पुलिस ने अफसरों के निर्देश पर हुई कार्रवाई

cradmin

2024 लोकसभा चुनाव को लेकर आज दिल्ली में बीजेपी करेगी बैठक

cradmin

Leave a Comment