Viral Time
Breaking News
देश

भीषण बारिश में भी पुलिस की तत्परता से नक्सलियों के मंसूबे पर फिरा पानी, जंगल से भागने को हुए मजबूर

Ranchi: झारखंड और छत्तीसगढ़ की सीमा स्थित नक्सलियों के गढ़ बूढ़ा पहाड़ सहित अन्य घोर नक्सल प्रभावित इलाकों में नक्सल विरोधी अभियान जारी है. झारखंड पुलिस अपनी तत्परता से तमाम दिक्कतों का सामना करते हुए नक्सलियों को जड़ से उखाड़ फेंकने में जुटे हैं. बारिश के मौसम में घने जंगल और पहाड़ी नालों में पानी के तेज बहाव से पुलिस को बार-बार जूझना पड़ रहा है. बरसात के मौसम में विषैले सांप-बिच्छुओं का भी आतंक बढ़ जाता है. इन सभी मुश्किलों के सामना करते हुए सुरक्षा बल घने जंगलों में अभियान को अंजाम तक पहुंचाने में जुटे हैं.

वैसे तो सालों भर इन इलाकों में सुरक्षाबलों को कई चुनौतियों का सामना करना पड़ता है पर बरसात का मौसम इसे और भी मुश्किल बढ़ा देता है. पेड़-पौधे हरे भरे होने से दूर तक नहीं दिखाई देता है, ऐसे सुरक्षाबलों को काफी सावधानी और दिक्कतों का सामना करना पड़ता है. कई दिक्कतें के बावजूद भी अभियान को जारी रखा गया है. पुलिस को लगातार सफलता भी मिल रही है. बूढ़ा पहाड़ इलाके में 25 लाख के इनामी स्पेशल एरिया कमेटी सदस्य सौरभ उर्फ मरकुस बाबा, नवीन यादव, मृत्युंजय भुइया, संतू भुइया व रवींद्र गंझू जैसे नक्सली सक्रिय हैं. बीते शनिवार को बूढ़ा पहाड़ पर भाकपा माओवादियों के कुख्यात नक्सलियों के खिलाफ आपरेशन आक्टोपस शुरू किया गया था. इस दौरान सुरक्षा बलों ने माओवादियों के कई बंकर ध्वस्त किये 106 से अधिक लैंडमाइंस, 350 से अधिक गोली, 500 मीटर कोडेक्स वायर, अमोनियम नाइट्रेट, हैंड पंप सिलेंडर, तीर बम, अर्द्धनिर्मित बैरल ग्रेनेड लांचर और विभिन्न प्रकार के विस्फोटक के साथ अन्य सामग्री बरामद की.

नक्सली जंगल और पहाड़ के बीच अपना ठिकाना बना रखा है. घोर नक्सल प्रभावित इलाको में कदम-कदम पर लैंड माइंस खतरा रहता है. झारखंड पुलिस नक्सलमुक्त करने से जारी अभियान में मुस्तैदी से जुटी हुई है. बताया जाता है कि बारिश में जंगलों के भीतर नई भर्ती के प्रयास करते हैं. नक्सली अपने पांव जमाने की कोशिशें में जुट जाता हैं. बीते शनिवार को ट्राई जंक्शन क्षेत्र में सरायकेला-खरसावां जिले के कुचाई थाना क्षेत्र में नक्सलियों के खिलाफ अभियान में अनल दस्ते के दो नक्सली मार गिराया. वहां से अत्याधुनिक हथियार के साथ गोली आदि की बरामदगी की थी. एक करोड़ का इनामी नक्सली अनल दा अपने दस्ता के साथ कोल्हान, पोड़ाहाट, झरझरा, सरायकेला व खूंटी सीमा क्षेत्र सहित बुंडू-चांडिल इलाके में सक्रिय है. बताया जा रहा है कि कुछ नये लोगों को भर्ती के बाद ट्रेनिंग दिया जा रहा था.

Related posts

अखिलेश यादव के सवाल पर मंत्री नंदी का तंज: बुंदेलखंड एक्सप्रेस वे के निर्माण पर अखिलेश यादव ने किया था ट्वीट

cradmin

गहलोत सरकार पर निशाना, आम आदमी पार्टी के विनय मिश्रा बोले

cradmin

शामली में हत्या के दो आरोपी गिरफ्तार: 14 जुलाई को युवक की पीटकर की थी हत्या, रास्ता रोकने को लेकर हुआ था विवाद

cradmin

Leave a Comment