Viral Time
Breaking News
Politics

अखिलेश-ओवैसी पर मुकदमे की मांग पर सुनवाई 29 नवंबर को

वाराणसी यूपी। सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव और एआईएमआईएम प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी सहित अन्य पर मुकदमा दर्ज करने की मांग से संबंधित याचिका आज वाराणसी के एसीजेएम 5th उज्ज्वल उपाध्याय की कोर्ट ने स्वीकार कर ली है। यह याचिका ज्ञानवापी मामले को लेकर भड़काऊ बयान देने के अलावा वहां मिले कथित शिवलिंग के समीप गंदगी कर धार्मिक भावनाएं आहत करने से संबंधित है। एडवोकेट घनश्याम मिश्रा ने बताया कि अदालत ने अपने आदेश में कहा है कि याचिका सुनवाई योग्य है। सुनवाई की अगली डेट 29 नवंबर तय की गई है।सिविल कोर्ट के एडवोकेट हरिशंकर पांडेय ने IPC की धारा 156-3 के तहत प्रार्थना पत्र दिया था। एडवोकेट के अनुसार, ज्ञानवापी मस्जिद के वजूखाने में बीती 16 मई को शिवलिंग मिला था। पूज्य शिवलिंग जहां मिला था वहां हाथ-पैर धोए जाने, खखार कर थूकने और गंदा पानी बहाने से असंख्य सनातन धर्मियों का मन पीड़ा से भरा है। आरोपियों ने साजिश के तहत स्वयंभू आदि विश्वेश्वर के शिवलिंग को फव्वारा कह कर सनातन धर्मियों की आस्था पर कुठाराघात और आमजन में विद्वेष फैलाने का काम किया है।एडवोकेट हरिशंकर पांडेय ने प्रार्थना पत्र में लिखा है कि सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने बयान दिया कि पीपल के पेड़ के नीचे पत्थर रख कर झंडा लगा दो तो वही भगवान और शिवलिंग हैं। AIMIM चीफ और सांसद असदुद्दीन ओवैसी और उनके भाई हिंदुओं के धार्मिक मामलों और स्वयंभू आदि विश्वेश्वर के खिलाफ लगातार अपमानजनक बात कह रहे हैं। इन नेताओं की बातें जन भावनाओं के खिलाफ हैं।

Related posts

कौन बनेगा कांग्रेस का अगला अध्यक्ष इन दोनों नेताओं के बीच कड़ा मुकाबला

cradmin

हथियारों की नुमाइश करने के कारण प्रधान मंत्री Bajeke पर हुआ केस दर्ज

cradmin

23 साल बाद अजमेर पहुंची ममता बनर्जी: टी एम सी प्रवक्ता गौखले की गिरफ्तारी पर बोलीं-बहुत बुरा हुआ

cradmin

Leave a Comment