Viral Time
Breaking News
जीवन शैली

क्यों होता है तुलसी विवाह ? जाने इसके पीछे की पौराणिक कहानी।

आज मतलब 4  नवम्बर को तुलसी विवाह है।  ये विवाह सदियों से चलता आ रहा हैं। भगवान विष्णु की पूजा बिना तुलसी के अधूरी मानी जाती हैं।  पर आपने कभी सोचा है  ऐसा क्यों होता हैं ? इसके पीछे एक पौराणिक कहानी है जो आज  हम बताएँगे।

तुलसी का असली नाम वृंदा था।  वृंदा बचपन से ही विष्णु भक्त थी।  राक्षस कुल की होने के बाद भी उसने कभी भी भक्ति नहीं छोड़ी।  उसका विवाह राक्षस राज जलंधर से हुआ।  जलंधर का देवताओ के साथ जब युद्ध होने वाला था तब वृंदा ने संकप्ल लिया के वे अनुष्ठान से तभी खड़ी होंगी जब जलंधर विजय होके आए। उसके अनुष्ठान को तोड़ने के लिए भगवान् को जाना पड़ा।  ताकि देवताओं की जित हो सके।  वो अनुष्ठान से खड़ी हुई और जलंधर का रूप लाए भगवान  के पैर छू लिए। बाद में जब उसको पता चला तो उसने भगवान को श्राप दिया पथ्थर के बनने का और खुद सती हो गई।  तब से ही वृंदा को तुलसी नाम देकर पूजा जाता हैं।

Related posts

Food Corporation Of India (FCI) ने Manager पदों के लिए भर्ती की प्रक्रिया शुरू, B-Sc पास जल्द करें आवेदन।

cradmin

रोजाना पिएं हरे धनिये का जूस, इससे मिलेंगे अनेक सेहतमंद फायदे

cradmin

अगर आप भी बढ़ते हुए वचन से परेशान है तो इन चीजों का सेवन ना करें

cradmin

Leave a Comment