Viral Time
Breaking News
Uncategorized

नरक चतुर्दशी के दिन क्यों हर घर में जलाए जाते हैं 14 दीपक और कहाँ रखना चाहिए इन दीपकों को

दिवाली हिंदू धर्म का सबसे बड़ा और प्रमुख त्योहार है। इसे देशभर में हर जगह बड़ी धूमधाम और हर्षोउल्लास के साथ मनाया जाता है। धनतेरस के दिन से ही  दिवाली पर्व की शुरुआत हो जाती है और यह पर्व 5 दिनों तक चलता है। इस दौरान धनतेरस, छोटी दिवाली, बड़ी दिवाली, गोवर्धन पूजा और भाई दूज जैसे महत्वपूर्ण त्योहार आते हैं।  दिवाली से पहले छोटी दिवाली आती है जिसे नरक चतुर्दशी भी कहा जाता है। इस साल नरक चतुर्दशी 23 और 24 अक्टूबर दोनों दिन मनाई जा रही है। नरक चतुर्दशी के दिन घरों में 14 दीपक जलाएं जाते हैं और इन्हें हर कोने में रखा जाता है।  यह दीपक क्यों जलाए जाते हैं और इन्हे कहाँ रखा जाता है जानिए।

नरक चतुर्दशी के दिन घरों में 14 दीपक जलाएं जाते हैं और मान्यता है कि इन दीपकों को घर के हर कोने में रखना चाहिए। कहते हैं कि इस दिन 14 दीपक जलाने से व्यक्ति नरक में जाने से बचता है इसलिए इसे नरक चतुर्दशी भी कहा जाता है। इसके अलावा नरक चतुर्दशी के दिन दीपक जलाने से घर व जीवन में आ रही सभी परेशानियां समाप्त हो जाती हैं। दीपकों को जलाकर इन जगहों पर रखना चाहिए।

  1. एक दीपक शाम के समय घर के मुख्य द्वारा पर रखना चाहिए
  2. कर्ज से मुक्ति पाना चाहते हैं तो एक दीपक मंदिर में रखकर आएं
  3. एक दीपक मां लक्ष्मी के समक्ष रखें
  4. एक दीपक तुलसी के पौधे में रखना चाहिए
  5. एक दीपक पीपड़ के पेड़ के नीचे भी अवश्य रखना चाहिए
  6. एक दीपक किसी सुनसान जगह पर रखकर आना चाहिए
  7. एक दीपक घर में उस स्थान पर रखें जहां आप कचरा रखते हों
  8. एक दीपक घर के बाथरूम में पानी की निकासी वाली जगह पर जरूर रखना चाहिए
  9. छत के किसी भी कोने पर एक दीपकर अवश्य रखें
  10. एक दीपक रसोई घर में भी जलाना चाहिए
  11. एक दीपक घर में किसी खिड़की के पास रखें अगर खिड़की न हो तो बालकनी में रख दें
  12. घर की सीढ़ियों पर भी एक दीपक रखें
  13. एक दीपक उस जगह रखें जहां पानी रखते हों
    1. रात में सोने से पहले दक्षिण दिशा की ओर कचरे की ढेर के ​पास रखें

Related posts

मोगा ट्रैफिक पुलिस ने यूके इंटरनेशनल सीनियर सेकेंडरी स्कूल मे लगाया सेमिनार

cradmin

सांप काट ले तब डरे नहीं , समझदारी दिखाइए और ये फोलो करें।

cradmin

फरीदाबाद: एडीसी ने किया गौशाला का निरीक्षण, कहा, गौवंश की देखभाल करना पुण्य का काम

cradmin

Leave a Comment