Viral Time
Breaking News
Uncategorized

अलीगढ़ सीएमओ को चौबीस घंटे का अल्टीमेटम,भ्रष्टाचारी पर नहीं हुई कार्रवाई,जड़ दिया जाएगा ताला:भानू गुट

अलीगढ़ यूपी। उत्तर प्रदेश के जनपद अलीगढ़ के मुख्य चिकित्सा अधिकारी कार्यालय पर उस वक्त अफरातफरी का माहौल पैदा हो गया। जब भारतीय किसान यूनियन भानू गुट के दर्जनों की तादाद में पदाधिकारी सीएमओ कार्यालय पर तैनात अधिकारियों पर भ्रष्टाचार का आरोप लगाते हुए कार्यवाही किए जाने की मांग को लेकर मुख्य चिकित्सा अधिकारी कार्यालय पर पहुंच गए। जिसके बाद कार्यालय में तैनात मुख्य चिकित्सा अधिकारी से बातचीत करने के दौरान भ्रष्टाचार मचाने वाले सीएमओ कार्यालय पर तैनात अधिकारियों पर कार्रवाई किए जाने की मांग की गई। इसके साथ ही उन्होंने सीएमओ को रिश्वत की मांग करने वाले भ्रष्टाचार अधिकारियों पर कार्रवाई किए जाने को लेकर 24 घंटे का अल्टीमेटम देते हुए सख्त लहजे में चेतावनी दी गई है,ओर कहा कि अगर 24 घंटे में सीएमओ ने कार्रवाई नहीं की गई तो सीएमओ कार्यालय पर तालाबंदी करते हुए ताला जड़ दिया जाएगा। आपको बताते चलें ही उत्तर प्रदेश सरकार ने प्रदेश के सभी जिला अधिकारियों को सरकारी विभागों का निरीक्षण एवं विभाग की देखरेख का जिम्मा दे रखा है। विभाग द्वारा जनता हित में किए जाने वाले कार्य सुचारू रूप से किए जा सके एवं विभागों में होने वाले भ्रष्टाचार को भी रोका जा सके प्रदेश सरकार की नीतियों के बावजूद भी अलीगढ़ स्वास्थ्य विभाग पर कर्मचारियों के स्थानांतरण के संबंध में भ्रष्टाचार के आरोप लगाया गया। इसके साथ ही भानु गुट के पदाधिकारी ने कहा कि सीएमओ कार्यालय भ्रष्टाचार का अड्डा बन चुका है। जिसके चलते कार्यालय के किसी भी पटल पर बैठे अधिकारी को बिना पैसे दिए किसी का कोई काम नहीं होता हैं। कहा कि इस कार्यालय पर क्लेम की फाइल, एपरैंडिक्स सहित अगर किसी गरीब का मेडिकल सर्टिफिकेट बनवाया जाए तो यहां पर बिना पैसे दिया कोई काम नहीं होता इसलिए भारतीय किसान यूनियन भानु गुट के द्वारा ₹5000 की रिश्वत मांगने वाले अधिकारी के खिलाफ कार्रवाई किए जाने को लेकर सीएमओ को 24 घंटे का अल्टीमेटम दिया गया है। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि 24 घंटे कर कर कार्रवाई नहीं की गई तो उनके द्वारा सीएमओ कार्यालय में ताला लग जायेगा। वही आपको बता दें कि पूरा मामला अलीगढ़ में भारतीय किसान यूनियन भानु गुट के एक पदाधिकारी की बहन स्वास्थ्य विभाग में कार्यरत हैं। शासन के द्वारा उनका स्थानांतरण एक स्थान से दूसरे स्थान पर होना तय हुआ है। लेकिन उनके स्थानांतरण की प्रक्रिया को विभाग के द्वारा पूर्ण नहीं किया जा रहा है । जिसको लेकर जब स्वास्थ्य कर्मचारी महिला संबंधित पटल पर बैठे अधिकारी से बात की तो उन्होंने स्थानांतरण करने के संबंध में 5000 रुपये की मांग की जब कर्मचारी महिला मुख्य स्वास्थ्य अधिकारी से इस बारे में मुलाकात की तो उन्होंने कर्मचारी महिला को फटकार कर भगा दिया । जब पूरे मामले की जानकारी भारतीय किसान यूनियन के पदाधिकारियों को हुई तो उन्होंने मुख्य चिकित्सा अधिकारी से इस मामले की जानकारी की तो मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने ऐसी किसी भी घटना होने से इनकार कर दिया । उन्होंने कहा कि यदि किसी संबंधित विभाग के अधिकारी ने कर्मचारी महिला से इस तरह की कोई मांग की है तो उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी । दूसरी ओर भारतीय किसान यूनियन के पदाधिकारियों ने कहा कि यदि कर्मचारी महिला का स्थानांतरण विभाग के द्वारा नहीं किया गया. तो भारतीय किसान यूनियन एकजुट होकर मुख्य चिकित्सा अधिकारी के कार्यालय पर आंदोलन करने को मजबूर होंगे।

Related posts

दतिया में ट्रैक्टर-ट्रॉली पलटने से 5 लोगों की मौत, कई घायल

cradmin

IIM CAT 2022 : 21 सितंबर को समाप्त होगी रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया; जानिए कैसे करें आवेदन

cradmin

ओलपाड के जोथाण गाँव के पास दो मोटर साइकिल आमने सामने टकराई, एक की मौत

cradmin

Leave a Comment