Viral Time
Breaking News
जीवन शैलीब्रेकिंग न्यूज़

विश्व खाद्य दिवस’ हर साल 16 अक्टूबर को मनाया जाता है, नियमित आहार में शामिल करें ये फूड

विश्व खाद्य दिवस’ हर साल 16 अक्टूबर को मनाया जाता है। इसका उद्देश्य दुनिया में ‘कुपोषण’ को पूरी तरह खत्म करना है। प्रोटीन, विटामिन-डी, विटामिन बी-12 जैसे कई पोषक तत्व शरीर के लिए बहुत जरूरी होते हैं। ये पोषक तत्व कुपोषण से बचाने में मदद करते हैं। इसके साथ ही ये डायबिटीज, कोलेस्ट्रॉल, हाई ब्लड प्रेशर, यूरिक एसिड जैसी बीमारियों के खतरे को भी कम करते हैं, लेकिन ऐसा क्या खाएं जिससे शरीर को ये जरूरी विटामिन और मिनरल्स मिलें? आज हम जानेंगे। उससे पहले आइए ‘विश्व खाद्य दिवस’ के बारे में कुछ सामान्य जानकारी प्राप्त करें।

संयुक्त राष्ट्र के अनुसार, दुनिया में लाखों लोगों को स्वस्थ आहार और आवश्यक पोषण नहीं मिलता है। इस समस्या को जड़ से खत्म करने के लिए संयुक्त राष्ट्र ने 16 अक्टूबर 1945 को खाद्य एवं कृषि संगठन की स्थापना की। तभी से इस दिन को ‘विश्व खाद्य दिवस’ के रूप में मनाया जाता है। इस वर्ष के विश्व खाद्य दिवस की थीम ‘किसी को भी पीछे न छोड़ें’ है।
स्वास्थ्य विशेषज्ञों के अनुसार, प्रोटीन एक मैक्रोन्यूट्रिएंट है जो शरीर की हर कोशिका के कामकाज के लिए आवश्यक है। यह मांसपेशियों, हड्डियों, बालों, त्वचा सहित शरीर के हर हिस्से के विकास में बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। शरीर में प्रोटीन की कमी से बचने के लिए अपने नियमित भोजन में अंडे, बीन्स, दाल, सोया, बादाम, क्विनोआ, चिकन, मछली, दूध, कद्दू के बीज, मूंगफली और पीनट बटर को शामिल करें।
विटामिन-डी वसा में घुलनशील पोषक तत्व है। सभी प्रकार के वसा शरीर के लिए हानिकारक नहीं होते हैं। शरीर को ऊर्जा और मजबूती के लिए स्वस्थ वसा की आवश्यकता होती है। यह शरीर को अंदर से गर्म रखने में मदद करता है और कोशिकाओं को ठीक से काम करने में मदद करता है। मोनोअनसैचुरेटेड और पॉलीअनसेचुरेटेड वसा के सेवन से कोलेस्ट्रॉल, मधुमेह, हृदय रोग जैसी जानलेवा बीमारियों से बचा जा सकता है।विटामिन-डी प्राप्त करने का सबसे अच्छा तरीका धूप से है, लेकिन इसके अलावा आप अंडे की जर्दी, सालमन मछली से भी विटामिन-डी प्राप्त कर सकते हैं। मशरूम, गढ़वाले दूध, गढ़वाले अनाज
एक स्टडी के मुताबिक विटामिन बी-12 शरीर की रेड ब्लड सेल्स, डीएनए, ब्रेन और नर्वस सिस्टम के लिए बहुत जरूरी है। इसकी कमी से थकान, कमजोरी, सिरदर्द, डिप्रेशन, सूजन, इरेक्टाइल डिसफंक्शन जैसी समस्याएं हो सकती हैं। आप मछली, अंडे, दूध, चिकन, सोया दूध आदि जैसे खाद्य पदार्थों से विटामिन बी-12 प्राप्त कर सकते हैं।

Related posts

सर्दियों में खजूर खाने से आपके शरीर को मिलेंगे यह चमत्कारी लाभ

cradmin

तांबे के लोटे में पानी पीते हैं तो भूलकर भी न करे ये गलतिया

cradmin

सेब की चाय: बस रोज सुबह पीएं सेब की चाय, एसिडिटी की समस्या हो जाएगी गायब

cradmin

Leave a Comment