Viral Time
Breaking News
अपराध

झोलाछाप डॉक्टरों का व्यापार खूब फल फूल रहा है हर जगह हर गली मोहल्ले में ये आपको ये अपनी दुकान लिए बैठे मिल जाएंगे। आये दिन झोलाछाप डॉक्टरों

स्वास्थ्य विभाग की जानकारी में होते हुए भी शहर में चल रहे हैं धड़ल्ले से फर्जी क्लीनिक

 
बदायूँ/उत्तर प्रदेश 
बदायूँ : जनपद भर में झोलाछाप डॉक्टरों का व्यापार खूब फल फूल रहा है हर जगह हर गली मोहल्ले में ये आपको ये अपनी दुकान लिए बैठे मिल जाएंगे। आये दिन झोलाछाप डॉक्टरों के ईलाज से मौतें होने का सिलसिला लगातार जारी है रोज कोई न कोई झोलाछाप के इलाज से मर रहा है फिर भी कोई कार्यवाही नही हो रही है कुछ छुट भइये नेता बनकर स्वास्थ्य विभाग से सांठगांठ कर अपने व्यापार को धड़ल्ले से चला रहे हैं। सही बात तो यह है कि स्वास्थ्य विभाग की कृपा से झोलाछाप डॉक्टरों की चांदी कट रही है।
 
ऐसा ही एक मामला जिले में ककराला रोड पर एक कथित महिला ने जीएनएम की पढ़ाई हासिल की है और उसने मिथलेश नर्सिग के नाम से बड़ा क्लीनिक खोल रखा है जहां टाईफाइड, मलेरिया, नार्मल डिलीवरी, गर्भवती महिलाओं की जांचों व बांझपन का इलाज बहुत ही बड़े स्तर पर उक्त कथित महिला कर रही है। 
 
क्लीनिक का किसी भी प्रकार का कोई भी रजिस्ट्रेशन नही है और न ही स्वास्थ संबंधित एक भी मानक पूरे किए हैं और धड़ल्ले से व्यापार को चला रही है और गरीबों का पेट काट रही है। 
 
जीएनएम शहर में अन्य कई जगह भी डिलीवरी करने जाती है। जहां से उसको मोटी कमाई हो रही है । जीएनएम का पति जिला चिकित्सालय में तैनात डाक्टर राजेश वर्मा को भी अपना संबंधी बताता है। 
 
सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार उक्त कथिक महिला ने जीएनएम की पढ़ाई की है और किसी भी प्रकार की डॉक्टर्स डिग्री नही है और वह कथिक महिला अपने आप को बड़ा डाक्टर बताती है। सघन जानकारी करने पता चला कि महिला की कासगंज, बदायूँ आदि कई जनपदों में इसी प्रकार की कई जगह शाखाएं भी चल
रही हैं।
 
ककराला रोड पर मिथलेश नर्सिग क्लीनिक में कथिक महिला जीएनएम अपने पति के साथ बैठती है। जो मैनेजर का पद संभाल रहा है। कथित महिला जीएनएम ने लोगों को भ्रमित करने के लिए अपने क्लीनिक के बैनर में चार अन्य डाक्टरों के नाम भी लिखवा रखें है जो कभी भी आते जाते दिखाई नहीं देते हैं। 
 
जिसमें से एक महिला डाक्टर नेहा शर्मा बीएएमएस है जिनका जनपद कासगंज की तहसील पटियाली में बड़ा अस्पताल चल चल रहा है। जो की बदायूँ कभी भी आती ही नहीं है। इसी तरह से कथिक महिला जीएनएम के द्वारा स्वास्थ्य विभाग को चूना लगाते हुए जनता को स्वास्थ सेवाओ के नाम पर जमकर लूटा जा रहा है। 
 
खास बात ये है कि कथिक महिला जीएनएम द्वारा क्लीनिक ऐसी जगह खोला गया है जिस जगह का  अधिकारियों को सपने में भी पता नहीं चले पायेगा। अबैध क्लीनिक अंदर जाकर बेसमेंट में खोला गया है जिसके आगे साइड में बिजली इलेक्ट्रिकल की दुकान है और पीछे साइड अबैध क्लीनिक चल रहा है। क्लीनिक के बाहर या फ्रंट पर किसी भी प्रकार का कोई बोर्ड भी नहीं लगाया गया है।
 
मजेदार बात यह है इस बात की जानकारी जनपद के स्वास्थ्य विभाग को है लेकिन सुविधा शुल्क के चलकर मैं आंखें बंद किए हुए बैठा है अब देखना यह है कि इस अवैध क्लीनिक पर स्वास्थ्य विभाग क्या कार्रवाई करता है?
 

Related posts

बूंदी जिले में धड़ल्ले से चल रहे नकली नोट : समोसे खाए और 200 रुपए का नकली नोट पकड़ा गए

cradmin

उत्तरप्रदेश में बहू के आतंक से परेशान पति व ससुरालीजन

कानपुर देहात में पेड़ से लटका मिला बुजुर्ग का शव: देर शाम खाना खाने के बाद घर से निकले थे, नशे के बाद आत्महत्या करने की आशंका

cradmin

Leave a Comment